होमStock Marketवित्तीय स्वतंत्रता: How To Achieve Financial Freedom in Hindi?

वित्तीय स्वतंत्रता: How To Achieve Financial Freedom in Hindi?

Financial Freedom in Hindi: यहाँ जाने कैसे पा सकते है वित्तीय स्वतंत्रता हिंदी में, कम उम्र में अमीर बनने के बेहतरीन टिप्स।

- Advertisement -

Financial Freedom in Hindi: सैलेरी के बिना कैसे जिया जाए? जो लोग इस खेल को समझ जाते है, वे आमतौर पर जिन्दगीभर सैलरी के लिए कड़ी मेहनत करने की बजाय, ऐसी दुनिया में जीने की तैयारी करते हैं, जहां फिक्स सैलरी और रेगुलर जॉब की माथापच्ची न हो।

दोस्तों, अगर आप जवानी में रिटायर होना चाहते हैं और ज्यादा से ज्यादा अमीर बनकर रिटायर होना चाहते है, तो आपको एक ऐसी दुनिया के बारे में सोचने की जरूरत है, जिसमें सैलरी न हो। अगर आपके रियालिटी, रेफ्रेंस, या माइंडसेट में आपको सैलरी की जरुरत है, तो आपके जीवन में अमीर बनकर रिटायर होने की पॉसिबिलिटीज बहुत कम हैं। 

Financial Freedom Thinking in Hindi

जिन लोगों को सैलरी की जरूरत होती है, वे पैसे के गुलाम हो जाते हैं। अगर आप आजाद (Financial Freedom in Hindi) होना चाहते हैं, तो आपको सैलरी या नौकरी की कभी जरूरत नहीं होनी चाहिए। अगर आप जवानी में अमीर बन कर रिटायर होने के बारे में सचमुच सीरियस हैं, तो आपको भी अपनी रियालिटी को बदलने की और ऐसी दुनिया की पॉसिबिलिटी को तलाशने की जरूरत है, जिसमें सैलरी या नौकरी ना हो। 

इंसान की फाइनेंशियल जरूरतों को पूरा करने के लिए फिक्स सैलरी न होने का डर, एक ऐसा डर है जिसे हममें से ज्यादातर लोग अच्छी तरह जानते हैं। अगर आप सैलरी या फिक्स नौकरी की जरूरत ना होने वाली दुनिया में खुद को देखने में मुश्किल महसूस करते हों, तो आपका पहला कदम खुद से ही ये पूछना है, “मैं सैलरी या फिक्स जॉब के बिना अमीर कैसे बन सकता हूं?” 

- Advertisement -

Also Read: THE INTELLIGENT INVESTOR IN HINDI, BOOK SUMMARY, FULL INFORMATION

How To Achieve Financial Freedom in Hindi

जिस पल आप खुद से ये सवाल पूछते हैं, आप अपने दिमाग को खोल लेते हैं, और एक नए रियालिटी की ओर जाना शुरू कर देते हैं। आपको खुद से यह सवाल पूछना चाहिए, “अगर आप इतने हाईली क्वॉलिफाइड और एक्सपीरियंस्ड हैं, तो आपको नौकरी की जरूरत ही क्यों है? अगर आप इतने स्मार्ट हैं, तो आपको सैलरी की जरूरत ही क्यों है?” 

इस तरीके से आप एक बहुत जरूरी और बुनियादी फाइनेंशियल सबक अपने दिमाग को सिखाने की कोशिश कर रहे हैं कि पैसा आपको अमीर नहीं बनाएगा। साथ ही उच्च सैलरी वाली नौकरी ही आपकी फाइनेंशियल प्रॉब्लम (Financial Freedom in Hindi) को नहीं सुलझा पाएगी। 

- Advertisement -

ये सवाल पूछकर आप ये समझने की कोशिश कर रहे हैं कि ये जरूरी नहीं है कि अकैडमिक सक्सेस का फाइनेंशियल सक्सेस से कोई संबंध हो। जरूरी नहीं है कि हाई अकैडमिक आईक्यू वाले इंसान का फाइनेंशियल आईक्यू भी उच्च हो। इसे महान वैज्ञानिक सर आइजक न्यूटन (Isaac Newton) के उदाहरण से समझते हैं। 

Isaac Newton Share Market Story in Hindi

दोस्तों, आपने सर आइजक न्यूटन का नाम जरूर सुना होगा। न्यूटन के गति के तीन नियमों से शायद ही कोई शख्स अंजान हो। लेकिन क्या आपको पता है कि न्यूटन शेयर मार्केट में भी पैसा लगाते थे, लेकिन वो शेयर मार्केट में इनवेस्टर तो थे, लेकिन उतना स्मार्ट नहीं जितना वो स्मार्ट वैज्ञानिक थे। 

न्यूटन के शेयर मार्किट के एक्सपीरिएंस का जिक्र “बेंजामिन ग्राहम” ने अपनी मशहूर बुक “द इंटेलिजेंट इन्वेस्टर” में किया है। दरअसल, उनके इस एक्सपीरियंस से एक दिलचस्प वाकया जुड़ा हुआ है, जिसे हर शेयर मार्किट के इनवेस्टर को समझना चाहिए। (Financial Freedom in Hindi)

Also Read: स्टॉक मार्केट से पैसे कैसे कमाए? HOW TO MAKE MONEY FROM STOCK MARKET IN HINDI

Sir Isaac Newton South Sea Bubble Story Hindi

1720 में न्यूटन ने South Sea कंपनी के शेयरों में पैसा लगाया था। यह शेयर तब इंग्लैण्ड के निवेशकों के लिए सबसे पसंदीदा शेयर हुआ करता था। शुरुआत में न्यूटन ने इस शेयर में 100% रिटर्न कमाकर, उसे बेच दिया। न्यूटन को South Sea कंपनी के शेयरों को बेचकर सात हज़ार पौंड का प्रॉफिट हुआ। लेकिन कुछ टाइम के बाद उस South Sea कंपनी के शेयर के लिए निवेशकों में फिर से दीवानगी देखी जाने लगी। 

इस तेजी को देखकर वैज्ञानिक न्यूटन भी और ज्यादा कमाई की उम्मीदों को नहीं रोक सके, और उन्होंने अपनी सारी कमाई फिर से उसी शेयर में लगा दी। न्यूटन ने काफी ज्यादा कीमत पर South Sea कंपनी का शेयर खरीदा, लेकिन इस बार उनको जोरदार नुकसान हुआ। 

South Sea कंपनी के शेयर में आई गिरावट से न्यूटन को 20,000 पाउंड, जिनकी कीमत आज मिलियन डॉलर में है, वह सारा गवां बैठे। इस वाकये के बाद न्यूटन जीवनभर कभी भी किसी के South Sea कंपनी के बारे में कोई जिक्र नहीं करते। 

Isaac Newton Thoughts in Hindi

न्यूटन ने कैलकुलस की खोज की थी। साथ ही उनके मशहूर गति के नियम से भला आज कौन अंजान होगा। लेकिन शेयर बाजार की चाल समझने में उन्होने गलती कर दी। न्यूटन ने South Sea कंपनी में निवेश के संबंध में अपने अनुभव के बारे में लिखा, “सितारों के चाल की गणना कर सकता हूं। लेकिन शेयर बाजार को लेकर इंसान के पागलपन की नहीं।” 

इस स्टोरी से यही मैसेज मिलता है कि आप भले ही किसी भी क्षेत्र में स्मार्ट हो, इसका मतलब यह कतई नहीं है कि पैसे के मामले में भी आप स्मार्ट है। (Financial Freedom in Hindi)

Also Read: FINANCIAL MANAGEMENT IN HINDI | वित्तीय प्रबंधन की पूरी जानकारी (6 POINTS)

Financial Freedom Achievement Tips in Hindi

तो दोस्तो, अपनी ऐकडेमिक अचीवमेंट्स पर गर्व करने वाले इंसान को समझना चाहिए कि क्या उस इंसान की दिलचस्पी यह सीखने में है कि वह अपना फाइनेंशियल आईक्यू कैसे बढ़ा सकता है। जो लोग अपनी इस रियालिटी को समझ जाते हैं, वे ज्यादा दौलतमंद बन जाते हैं। जल्दी रिटायर हो जाते हैं, और फाइनेंसियल फ्रीडम (Financial Freedom in Hindi) का जीवन जी पाते हैं। हालांकि उन्हें उतनी ऊंची सैलरी नहीं दी जाती है, जितनी वे शुरुआत में चाहते हैं। 

अगर आप भी जानना चाहते है कि बिना नौकरी के फाइनैंशल फ्रीडम कैसे हासिल कर सकते हैं, तो आपको लेखक “डेविड बैच” की किताब, “The Automatic Millionaire” जरूर पढ़नी चाहिए। तो दोस्तो, सबक ये है कि अगर आप जवानी में अमीर बनकर रिटायर होना चाहते हैं, तो आपके लिए फाइनेंशियल आईक्यू, अकैडमिक आईक्यू से ज्यादा जरूरी है।

How To Increase Financial IQ in Hindi

अब हम फाइनेंशियल आईक्यू बढ़ाने के लिए कुछ टिप्स पर बात करेंगे, ताकि आप ऐसी दुनिया में जी सके जिसमें सैलरी की जरूरत ही न हो। आप जितनी जल्दी बिना सैलरी वाली दुनिया को देख सकेंगे, आपके उतने ही जल्दी अमीर बनने की पॉसिबिलिटी होगी। (Financial Freedom in Hindi)

  • 1. खुद को ऐसी दुनिया या रियालिटी में देखना शुरू करना, जहां आपको दोबारा कभी सैलरी या नौकरी की जरुरत नहीं होगी।

इसका ये मतलब नहीं है कि आप दोबारा कभी काम नहीं करोगे। इसका मतलब तो सिर्फ ये है कि आप फाइनैंशली इतने जरूरतमंद या हताश नहीं होंगे कि आप अपनी बेश कीमती जिंदगी को सिर्फ कुछ हजार रूपये के लिए बेचे और अपनी सैलरी गंवाने या कंगाली के डर में जिए। 

Also Read: SHARE MARKET BASICS FOR BEGINNERS IN HINDI 2022

जब आप ऐसी दुनिया की कल्पना कर लेते हैं, जिसमें सैलरी की दोबारा कभी जरूरत नहीं होगी, तो आप इस दूसरी दुनिया को देख सकते हैं, बिना नौकरी या सैलरी वाली दुनिया। 

Bill Gates Financial Freedom in Hindi

कुछ साल पहले मैंने न्यूजपेपर में एक हेडलाइन देखी, “बिल गेट्स को दुनिया में सबसे ज्यादा सैलरी नहीं मिलती है।” इस आर्टिकल में लिखा था कि बिजनेस की दुनिया में कई एग्जिक्युटिव्स को बिल गेट्स से ज्यादा सैलरी मिलती है। फिर भी बिल गेट्स दुनिया के सबसे अमीर आदमी हैं। 

आर्टिकल में बताया गया था कि उस टाइम गेट्स को सिर्फ 50 लाख डॉलर सालाना सैलरी मिलती थी। लेकिन उनके पास बिलियन डॉलर की संपत्ति थी, और ये बढ़ती ही जा रही थी। तो आप ये समझ लें कि सैलरी के जरिए लोग बहुत ज्यादा अमीर नहीं बनते हैं। (Financial Freedom in Hindi)

  • 2. अगर आप एक्टिव इनकम से फिक्स सैलरी की जरूरत की थिंकिंग को छोड़ देते हैं, तो आप खुद से अगला सवाल ये पूछ सकते हैं कि आप किस तरह की इनकम चाहते हैं? 

उदाहरण के लिए आपको बता दें की तीन तरह की बेसिक इनकम होती है। 

1. एक्टिव इनकम 

2. पोर्टफोलियो इनकम 

3. पैसिव इनकम 

ये तीन मुख्य श्रेणी हैं, लेकिन इनके अलावा भी इनकम के कई दूसरे प्रकार भी है। ज्यादातर लोग जिंदगी भर एक्टिव इनकम के लिए काम करते हैं, और कड़ी मेहनत करते हैं। इसलिए तो इतने कम लोग जवानी में रिटायर होते हैं, या अमीर बनकर रिटायर होते हैं। 

Also Read: पैसे कैसे बचाए? MONEY SAVING TIPS IN HINDI (2022)

अगर आप जवानी में रिटायर होने के बारे में सीरियस हैं, तो इनकम के डिफरेंट टाइप्स को जानें, ताकि आप हमेशा के लिए अमीर बन सकें। (Financial Freedom in Hindi) इनकम के इन तीन तरीकों के अलावा कुछ दूसरे तरीके हैं। 

  • 4. रेसिडुअल इनकम, जो नेटवर्क मार्केटिंग, बिजनेस, या फ्रेंचाइजी जैसे बिजनेस से होने वाली इनकम है, जिसके लिए आप मालिक होते हैं, लेकिन इसे चलाता कोई दूसरा है। 
  • 5. डिविडेंड इनकम, जो शेयरों से होने वाली इनकम है। 
  • 6. इंटरेस्ट की इनकम जो सेविंग या बांड्स से होने वाली इनकम है। 
  • 7. रॉयल्टी से होने वाली इनकम, जो आपके द्वारा लिखे सांग्स, बुक्स, ट्रेडमार्क, और आपके द्वारा किए गए इनवेंशन से होती है। 
  • 8. फाइनेंशियल इंस्ट्रूमेंट इनकम, जैसे रियल एस्टेट के ट्रस्ट डेट से होने वाली इनकम है। 

तो दोस्तों, टिप्स ये है कि एक बार जब आप नौकरी या अपनी मेहनत से इनकम ना करने के आइडिया को एक्सेप्ट कर लेते हैं, तो आप अलग अलग तरह की प्रॉपर्टी से मिलने वाली अलग अलग तरह की इनकम पर रिसर्च शुरू कर सकते हैं। 

आप चाहें तो बुक पढ़ सकते हैं, या अपने एकाउन्टेन्ट से अलग अलग तरह की इनकम के बारे में जानकारी ले सकते हैं। ऐसी इनकम जो आपकी मेहनत के अलावा अन्य चीजों से मिलती है। जिस पल आप अपने इंटरेस्ट की इनकम के डिफरेंट टाइप की स्टडी करने और उन्हें तलाशने लगते हैं, वे डेवलप होकर आपकी रियालिटी का हिस्सा बन जाती है। 

Also Read: स्टॉक मार्केट से पैसे कैसे कमाए? HOW TO MAKE MONEY FROM STOCK MARKET IN HINDI

Financial Freedom Ideas in Hindi

मुद्दे की बात ये है की अति ना करें, बस इनकम और प्रॉपर्टीज के दूसरे तरीकों को अपनी रियालिटी में सहजता से आने दें। जब आप किसी काम को करने के दबाव के बिना सोचेंगे और इनकम के अलग अलग तरह के आइडिया आपके भीतर जितने ज्यादा जमेंगे, साथ ही आप ऐसी इनकम के बारे में जितना ज्यादा सोचेंगे, उतनी ही ज्यादा ये आइडिया आपके दिमाग में जड़ें जमा लेगा। 

ज्यादातर लोग सोचते हैं कि उन्हें तत्काल कुछ करना होगा, लेकिन ये जरूरी नहीं है। बस आप पैसिव इनकम के लिए इन्वेस्ट करने के विचार को अपने दिमाग में रात-दिन घूमने दें। तब कहीं जाकर आप इस पर काम करना शुरू करेंगे। (Financial Freedom in Hindi)

Retire Young Retire Rich Hindi Book Summary

तो दोस्तो, यह बातें मैंने आपको “Retire Young Retire Rich” किताब से बताई है। आप इस किताब को हिंदी में अमेजॉन से खरीद सकते है, आपको इस किताब से ऐसी बहुत सारी फाइनेंसियल फ्रीडम की बातें सीखने को मिलेंगी, जिन्हे कोई नहीं बताता। आपको यह जानकारी कैसी लगी, निचे कमेंट करके हमें जरूर बताए। (Financial Freedom in Hindi)

यह भी देखें:

Gautam Adani News: 250% Dividend Stocks

Mutual Fund Investment Tips to be Rich

Mutual Funds vs Stock Market 2022

- Advertisement -
RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -