होमStock Marketपैसे कैसे बचाए? Money Saving Tips in Hindi (2022)

पैसे कैसे बचाए? Money Saving Tips in Hindi (2022)

क्या आप भी जानना चाहते है पैसे बचाने के तरीके? क्या आप भी सर्च करके थक गए है की पैसे कैसे बचाए, तो यहाँ हमने बताया है की पैसे कैसे बचाते है? Best Money Saving Tips in Hindi:

- Advertisement -

Money Saving Tips in Hindi: आज के तेजी से बदलते टाइम में हर कोई महंगाई की मार झेल रहा है। जहां एक ओर खर्चे बढ़ते जा रहे हैं, वहीं सेविंग्स बिल्कुल भी नहीं हो पा रही है। इस कारण हर कोई अपनी इनकम को बढ़ाने की फिराक में लगा हुआ है। यहां तक कि लोग डबल शिफ्ट में काम करने को मजबूर है, तो कुछ लोग ऐसे भी हैं जो एक टाइम में कई जगहों पर काम कर रहे हैं। 

वहीं इन सब के बाद भी पैसे की कमी देखने को मिल रही है। ज्यादातर लोग ज्यादा पैसा तब खर्च करते है जब उनके पास ज्यादा पैसा होता है। जैसे-जैसे इनकम बढ़ती है, लोगों के लाइफ स्टैंडर्ड में भी बढ़ोतरी होती है। इच्छा चुपके से जरूरतों में बदल जाती है और ऐसी चीजें जो कभी लग्जरी की चीज़ें हुआ करती थी, वो भी नॉर्मल लगने लगती है। 

- Advertisement -

यह माइंडसेट एक समस्या खड़ी करता है, एक बड़ी समस्या। आप अपने चुने हुए तरीके से अपनी लाइफ का मजा ले सकते हैं, लेकिन आप साथ-साथ पैसे बनाने की अपनी कैपेसिटी को भी लिमिटेड कर रहे है। और अगर आप अपने खर्चों को नहीं रोक पा रहे है, तो आप बड़ी फाइनेंशियल परेशानी को बुलावा दे रहे हैं। (Money Saving Tips in Hindi)

Also Read: स्टॉक मार्केट से पैसे कैसे कमाए? How To Make Money From Stock Market in Hindi

How to Save Money in Hindi?

- Advertisement -

फेमस फुटबॉल खिलाड़ी “जॉर्ज बेस्ट” ने कहा था, “मैंने शराब, पक्षियों, और तेज कारों पर बहुत पैसा खर्च किया है। बाकी पैसे यूं ही गंवा दिए।” कई लोग जिन्हें पैसे की तंगी का सामना करना पड़ता है। उनकी जिंदगी इस फुटबॉल खिलाड़ी जैसी हो सकती है। उन्हें लगता है की उनके इतने सारे खर्चे है, तो वह कैसे कुछ बचा सकते है? 

इस आर्थिक रूप से समस्या ग्रस्त मानसिकता से बाहर निकलना बहुत मुश्किल है। सेविंग आपकी फाइनेंशियल सिक्योरिटी के लिहाज से, और एक बड़ी रकम तैयार करने के लिए जरूरी है। सेविंग के बिना आपके फाइनेंशियल जिंदगी बहुत बड़े खतरे में पड़ सकती है। 

इसलिए आपको इस तरह की मानसिकता से बाहर निकलने के तरीके ढूंढने चाहिए। दोस्तों अगर आप भी पैसे बचाना चाहते है, और हर महीने के लास्ट में अच्छी सेविंग चाहते है, तो आपको अपने खर्चों को कम करने की जरूरत है।  

पैसे कैसे बचाए? Paise Kaise Bachaye?

- Advertisement -

खर्चे कम करने का मतलब इस बात से कभी नहीं होता कि आप अपने खाने-पीने और जरूरी सामानों को इस्तेमाल करना बंद कर दें, या फिर उसमें कटौती करें। कई बार हम जानकारी के बिना अपने बहुत से बेमतलब के खर्चों को नहीं पहचान पाते, और खर्चे ज्यादा होने से सेविंग नहीं कर पाते। 

दोस्तों अक्सर देखा जाता है कि इनकम बढ़ने से इंसान का नजरिया भी बदल जाता है। फिर तो छह महीने पुराना फोन, बहुत पुराना लगने लगता है। पब्लिक ट्रांसपोर्ट में सफर करने की जगह OLA और UBER से टैक्सी बुक हो जाती है। यह कुछ उदाहरण है जो साबित करते हैं कि हमारी लाइफ स्टाइल इन्फ्लेशन की शिकार होती जा रही है। 

इसलिए ये बहुत जरूरी है कि आप अपनी सैलरी से पैसा बचाएं और ये एक आदत बन जाए। सच तो ये है कि अपनी सैलरी से पैसे बचाने के लिए बहुत अनुशासन और ईमानदारी की जरूरत होती है। इस पोस्ट में हम आपको जानकारी देंगे कि कैसे पैसे बचाएं, अपनी सैलरी से कितना बचाएं, और कहां इन्वेस्ट करें। 

साथ ही अगर आप शेयर मार्केट में पैसा इन्वेस्ट करना चाहते हैं, और अभी तक आपके पास डीमैट अकाउंट नहीं है, या बहुत ज्यादा ब्रोकरेज से परेशान है, तो देश के सबसे अच्छे, बड़े, और भरोसेमंद ब्रोकरेज फर्म Upstox पर अपना खाता बनाए। जहां पर आपका ब्रोकरेज मैक्सिमम ₹20 ही लगेगा। 

इंडिविजुअल रिटायरमेंट अकाउंट कैसे बनाएं? Individual Retirement Account

आज हम जानेंगे कि IRA (Individual Retirement Account) को कहां ओपन करें? और ये जानेंगे कि कैसे हम उसमें पैसे बचा सकते हैं। दोस्तों आप घर बैठे ही ऑनलाइन वेबसाइट से अपना IRA ओपन कर सकते हैं। ऐसे बहुत सारे बैंक, ब्रोकरेज फर्म, और म्यूचुअल फंड कंपनीज हैं, जिससे आप अपना एक IRA ओपन कर सकते हैं।

कुछ कंपनीज और रोबो-एडवाइजर्स हैं जो ऑनलाइन सर्विसेज प्रोवाइड करती हैं। जो आपकी सहायता करती हैं और कुछ ही मिनट में प्रोसेस ऑटोमेट कर देती हैं। आप जब इन वेबसाइट्स पर अपनी जानकारी भरते है, तो इसे बहुत ही ध्यान से भरें, और अपना पोर्टफोलियो बनाए। 

जब आप अपना IRA किसी बैंक या ब्रोकरेज फर्म से ओपन करवाएं, तो उन्हें सबसे पहले ये बोले कि आप कोई सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान सेटअप करना है, जिसमें से रेगुलर बेसिस पर पैसे ट्रांसफर होते रहें, और ये अमाउंट दूसरे अकाउंट यानि आपके रेगुलर चेकिंग अकाउंट से ट्रांसफर होता रहे।

Money Management Tool in Hindi? Paise Kaise Bachaye?

दोस्तो आइए अब एक ऐसे टूल के बारे में जानते हैं, जिससे यह जान पाएंगे की हम कैसे मनी इन्वेस्ट करें, कैसे इसे डाइवर्सिफाइ करें, और कहां कितना इन्वेस्ट करें। इस टूल का नाम है “ऑटोमैटिक मिलियोनेर इन्वेस्टमेंट पिरामिड।” यह पिरामिड दो सिद्धांतों पर आधारित है। पहला सिद्धांत है कि आपके इन्वेस्टमेंट का कॉम्बिनेशन कैश, बांड्स, और स्टॉक्स होना चाहिए। और दूसरा सिद्धांत है कि आपको “नेचर ऑफ कॉम्बिनेशन” बदलते रहना चाहिए। 

यह पिरामिड आपकी फाइनेंशियल लाइफ को चार पीरियड्स में डिवाइड कर देता है, जिसमें पहला पीरियड है ऐसे इयर्स में जिनमें हम इन्वेस्ट करना स्टार्ट करते हैं, जिसे “Getting Started Years” कहते है। दूसरा पीरियड है “Making Money Years”, और तीसरा पीरियड है “Preretirement Years”, और चौथा पीरियड है “Retirement Years”। 

हर एक पॉइंट पर आपके जरूरतें और इच्छाएं अलग है। इसलिए आपके “कॉम्बिनेशन ऑफ इन्वेस्टमेंट्स” भी अलग होना चाहिए। हर एक पिरामिड ऑफ पिरामिड सुझाव देता है कि हमें कितना फ्यूचर के लिए अमाउंट सेव करना, और उसका कितना डिफरेंट टाइप ऑफ इन्वेस्टमेंट के लिए परसेंटेज एलोकेट करना होगा। 

Money Management in Hindi

पिरामिड के आधार पर सबसे सुरक्षित इन्वेस्टमेंट Cash और Bonds आते है। जैसे जैसे हम पिरामिड में ऊपर जाते हैं, और रिस्क ज्यादा लेते हैं, तब हम हमारी ग्रोथ और इनकम को ग्रोथ से अग्रेसिव ग्रोथ की ओर ले जाते हैं। देखा जाए तो हम यही चाहेंगे कि हमारा रिटायरमेंट अकाउंट सुरक्षित इन्वेस्टमेंट से बनाए। और ऐसी रिस्क कैटेगरीज में इनवेस्ट करें जो आपकी उम्र के हिसाब से सही हों। 

जितने जवान आप होंगे, आप ज्यादा रिस्क का सामना कर पाएंगे। क्योंकि आपके पास इकोनॉमिक लॉस से बाहर आने का टाइम होगा। ऐसे ही जो रिटायर्ड आदमी होगा, वह सुरक्षित इन्वेस्टमेंट करना पसंद करेगा। दोस्तों, यह सिद्धांत बहुत ही आसान है। और देखा जाए तो असल में काम भी करता है।

Best Government Schemes for Investment in Hindi

अब हम जानते है, भारत में वह कौन सी स्कीम है जो रिटायरमेंट के बाद आपकी टेंशन को दूर कर सकते हैं। 

1. प्रधानमंत्री वय वंदना योजना | Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana in Hindi

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना, यानी PMVVY केन्द्र सरकार की सोशल सिक्योरिटी की स्कीम है। यह स्कीम 60 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को इनवेस्ट करने, और बाद में पेंशन पाने की सुविधा देती है। इस स्कीम में इन्वेस्ट करके, रिटायरमेंट के टाइम खर्च का अच्छा इंतजाम किया जा सकता है। 

इस स्कीम में 1.5 लाख से 15 लाख रुपये तक इन्वेस्ट कर सकते हैं। 1.5 लाख रुपये के इन्वेस्टमेंट पर हर महीने एक हज़ार रुपये की पेंशन मिलेगी। इस हिसाब से अगर कोई ₹15 लाख इन्वेस्ट करता है, तो उसे हर महीने 10 हज़ार रुपये की पेंशन, 10 साल तक मिलेगी। उसके बाद जो भी आपका मूलधन है, वह वापस दे दिया जाएगा। 

अगर एक परिवार में पति-पत्नी दोनों सीनियर हैं, तो वो 15-₹15 लाख इन्वेस्ट कर सकते हैं। दोनों की जमा राशि पर, महीने में ₹20,000 की पेंशन मिल सकती है। पेंशन चाहे तो हर महीने, तीन महीने, छह महीने, या 12 महीने पर ले सकते हैं। 

2. सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम | Senior Citizen Saving Scheme in Hindi

ये सरकार की ओर से सपोर्टेड स्कीम है, जिसमें 60 साल से ऊपर के लोगों को फायदा मिलता है। इसमें सिंगल या जॉइंट आधार पर स्कीम ले सकते हैं। ये स्कीम पाँच साल के लिए ले सकते हैं। जो लोग 55 से 60 साल के बीच हैं, या रिटायर हो गए, या VRS ले ली है, वह इस योजना के पात्र माने जाते हैं। 

जॉइंट में ये सेविंग स्कीम पति-पत्नी के साथ शुरू कर सकते हैं। खाता खोलते वक्त नॉमिनी का नाम देने का प्रावधान है। बाद में भी नाम जोड़ सकते हैं। अधिकतम ₹15 लाख इन्वेस्ट कर सकते हैं। और कम से कम एक हज़ार रुपये जमा कर सकते हैं। डेढ़ लाख रुपये तक के इन्वेस्टमेंट पर टैक्स छूट का प्रॉफिट मिलता है। 

पांच साल की स्कीम में मिलने वाला ब्याज कंपाउंडिंग के तौर पर जुड़ता है, और हर चार महीनों में सेविंग अकाउंट में जमा होता है। बीच में भी पैसा निकाल सकते हैं, लेकिन कुछ शर्तें हैं। एक साल से पहले खाता बंद करेंगे, तो कोई ब्याज नहीं मिलेगा। एक साल बाद अगर पैसा निकालते है, तो 1.5% की कटौती होगी। दो साल पर ये कटौती 1% तक होती है। 

3. म्यूचुअल फंड | Mutual Fund in Hindi

अगर आप अभी से म्यूचुअल फंड में इन्वेस्ट करना शुरू कर दें, तो रिटायरमेंट तक अच्छा पैसा जुड़ जाएगा। म्यूचुअल फंड में चाहें तो सिस्टमैटिक विड्रॉल प्लान, यानि SWP को अपना सकते हैं। एसडब्ल्यूपी (SWP) को रिटायरमेंट में पैसे कमाने का अच्छा साधन माना जाता है। 

SWP म्यूचुअल फंड से एक फिक्स्ड पीरियड में फिक्स्ड अमाउंट पाने की सुविधा देता है। इसके तहत एक फिक्स्ड अमाउंट को रिटर्न के लिए फिक्स कर सकते हैं। उससे मिलने वाले रिटर्न को हर महीने, तीन महीने, छह महीने, या सालाना के तौर पर पाने का सिस्टम बना सकते हैं। 

इसमें जमा अमाउंट बढ़ता जाता है, क्योंकि उसमें रिटर्न जुड़ता जाता है। इसमें एसआईपी (SIP) के तौर पर ₹500 से भी इन्वेस्टमेंट शुरू कर सकते हैं। कम अवधि से लेकर, ज्यादा साल तक के लिए इनवेस्टमेंट की सुविधा और उसपर रिटर्न पाने के फायदे मिलते हैं। 

4. बैंक फिक्स्ड डिपॉजिट स्कीम | Bank Fixed Deposit Scheme India

युवा इन्वेस्टर हों या सीनियर सिटीजन, बैंक एफडी सबका पसंदीदा प्लान है। हालांकि रेगुलर इनकम के लिए जरूरी है सही एफडी प्लान का चयन करना। सही प्लान का चयन करें, तभी अच्छा पैसा जुड पाएगा। और रिटायरमेंट के बाद एक बड़ा फंड जमा हो पाएगा। 

रेगुलर इनकम के लिए महीने का या तिमाही प्लान ले सकते है। एफडी तो आप साल के लिए करेंगे, लेकिन उसका ब्याज आप महीने, तिमाही, छह महीने, या सालाना भी ले सकते है। इससे रिटायरमेंट का खर्च आसानी से चलेगा। अगर अभी आपके पास ज्यादा पैसा है, तो तुरंत एफडी करा लें। 

मचुरिटी के बाद उसी पैसे को फिर से फिक्स कर सकते है। इससे आपका इन्वेस्टमेंट और बढ़ेगा, और कमाई भी बढ़ती जाएगी। आपातकालीन स्थिति में एफडी पर लोन भी ले सकते है।

पैसे बचाने के तरीके | Money Saving Kaise Kare?

तो दोस्तों, अभी तक आप यह तो समझ ही गए होंगे की यह सभी प्रोसेस तभी होगा जब यह सिस्टम आटोमेटिक होगा। अभी हमने जाना है कि कैसे आप अलग अलग रिटायरमेंट अकाउंट से पैसे बचा सकते है। और अब हम जानेंगे कि इन सभी अकाउंट में पैसे कैसे इन्वेस्ट करे, जिससे वह कम रिस्क में जल्दी ग्रो करें। 

आप अपनी इन्वेस्टमेंट पर 1% कमाते है या 10%, यह पुरे तरीके से आपके इन्वेस्टमेंट करने के तरीके पर निर्भर करता है। इसलिए आप सोच समझकर इन्वेस्टमेंट प्लान को चुने। आपने यह पुरानी कहावत तो जरूर सुनी होगी, “Don’t Put All Your Eggs in One Basket”. यह बात आपको इन्वेस्टमेंट करते वक्त ध्यान रखनी होगी। अपना पैसा एक या दो जगह इन्वेस्ट करने के बजाय, उसे डायवर्सिफाय करें। 

इसका यह मतलब नहीं है की आपको अलग अलग रिटायरमेंट अकाउंट ओपन करने है, बल्कि आपको अपना डायवर्सिफाई पोर्टफोलियो बनाना होगा। जिससे आप एक ही रिटायरमेंट अकाउंट से कॅश, बांड्स, और स्टॉक्स में इंवेस्टमेंटन कर सकें।

कम खर्च करने के उपाय क्या है?

कम खर्च करने के लिए आपको अपनी इच्छाओं को काबू करना होगा, आपको सिर्फ अपनी जरूरतों पर ही खर्च करना चाहिए, न की इच्छाओं पर।

कम पैसे में घर कैसे चलाएं?

कम पैसे में घर चलाने के लिए आपको अपने वह खर्चे बंद करने होंगे जिनके बिना आप अपना जीवन बिता सकते है। जैसे महंगे मोबाइल फोन न खरीदें, महंगे और ज्यादा कपडे न खरीदें, और महँगी गाडी न खरीदें।

पैसे बचाने के 6 तरीके कौनसे है?

पैसे बचाने के कई तरीके है। सबसे पहले आपको महंगे सामान की बजाय कम कीमत के सामान का इस्तेमाल करना चाहिए। कभी भी सैलरी से ज्यादा खर्चा नहीं करना चाहिए।

यह सभी जानकारी आपको मैंने “The Automatic Millionaire” किताब से बताई है। जिसमे विस्तार से बताया गया है की हम अपने पैसे को कैसे बचा सकते है, और अच्छे से पैसे कैसे मैनेज कर सकते है। तो अगर आप भी यह सभी बातें सीखना चाहते हैं, तो इस किताब को पढ़ सकते है।

Source: Internet

- Advertisement -
RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -