होमStock MarketFinancial Management in Hindi | वित्तीय प्रबंधन की पूरी जानकारी (6 Points)

Financial Management in Hindi | वित्तीय प्रबंधन की पूरी जानकारी (6 Points)
F

Top 6 Best Financial Management in Hindi: क्या आपको भी जानने है वित्तीय प्रबंधन के बारे में 6 सबसे बेहतरीन तरीके, जिसने आप अपने पैसो से पैसे कामना सीख सकते है। यहाँ जाने पूरी जानकारी।

- Advertisement -

Financial Management in Hindi: लोग जिंदगी भर कड़ी मेहनत करते हैं। इसका एक कारण यह है कि उन्हें अपने पैसे से ज्यादा कड़ी मेहनत करना सिखाया गया है। जब ज्यादातर लोग इनवेस्टमेंट करने के बारे में सोचते है, तो वे अपना पैसा किसी सेविंग्स अकाउंड, एफडी, एलआईसी, या गोल्ड में रख देते है। और अपनी कड़ी मेहनत वाली जिंदगी जारी रखते हैं। 

खुद काम करते टाइम वह उम्मीद करते हैं कि उनका पैसा भी काम कर रहा होगा। फिर जब कभी पैसों को लेकर कोई मुश्किल आती है, तो उनकी सारी सेविंग्स खत्म हो जाती है। और ज्यादातर लोगों के पास फाइनेंशियल क्राइसिस की कोई प्लानिंग नहीं होती है। (Financial Management in Hindi)

Financial Management Meaning in Hindi

दोस्तों, ज्यादातर लोग अपनी जिंदगी में पैसे के मामले में घास-फूस के मकान बनाने में लगा देते है। ऐसे मकान जिन्हें आंधी, बारिश, आग, और बदमाश, यानि चोर नुकसान पहुंचा सकते हैं। अगर आप जवानी में अमीर बनकर रिटायर होना चाहते है, तो आपको ज्यादा तेज और कड़ी मेहनत करने की जरूरत है। आपके पैसे को भी ऐसी ही मेहनत करनी चाहिए। 

अपने पैसे को एक जगह बैठा कर छोड़ देना तो पतझड़ की सूखी पत्तियों के ढेर को देखने की तरह है, जो किसी चिंगारी का इन्तजार कर रहा है। उस चिंगारी का जो पत्तियों को जलाकर राख कर देगी। आज कई फाइनेंशियल प्लानर और म्यूचुअल फंड मैनेजर आम इनवेस्टर से कहते है, “बस, हमें अपना पैसा दे दो, और हम आपके पैसे से आपके लिए काम करवायेंगे”। (Financial Management in Hindi)

- Advertisement -
यह भी देखें: पैसे कैसे बचाए? Money Saving Tips in Hindi (2022)

What is Financial Management in Hindi?

ज्यादातर इनवेस्टर सहमति में सर हिला देते है, और ये मंत्र दोहराते है, “लॉन्ग टर्म के लिए इन्वेस्ट करो, खरीदो, रोककर रखो, और डायवर्सिफाई करो”। लेकिन इससे उनका पैसा जाम हो जाता है, और वे अपनी नौकरी पर लौट आते हैं। ज्यादातर इनवेस्टर्स के लिए यह काफी अच्छा आइडिया है, लेकिन सिर्फ तब ही, जब ये सीखने में कोई दिलचस्पी ना हो कि अपने पैसे से कैसे काम करवाया जाए। 

क्योंकि वे अपने पैसे की तुलना में खुद ज्यादा कड़ी मेहनत करना पसंद करते हैं। आम इनवेस्टर्स की इन प्लानिंग के साथ दिक्कत यह है कि ये इनवेस्टमेंट स्ट्रैटिजी बहुत ज्यादा लाभदायक और सुरक्षित नहीं है। आप अपना पैसा सेविंग अकाउंट, एलआईसी, या एफडी में जमा करके जवानी में अमीर नहीं बन सकते हैं। 

वित्तीय प्रबंधन क्या होता है? What is Financial Management in Hindi?

- Advertisement -

हमें यह सीखना होगा कि हम किस तरह अपने पैसे से काम करवा सकते है, और कड़ी मेहनत करवा सकते है, ताकि वह ज्यादा से ज्यादा असेट्स (संपत्ति) बनाएं। जब हमारा पैसा कोई एसेट (संपत्ति) बना देता है, तो हमें उस पैसे को दोबारा बाहर निकाल कर, दूसरे इन्वेस्टमेंट से और ज्यादा असेस्ट्स बनाने चाहिए। 

हम अपने पैसे को गतिशील रख कर, ज्यादा से ज्यादा असेस्ट्स बना सकते है। और ये एक ऐसी स्ट्रैटिजी है जिसका इस्तेमाल कोई भी कर सकता है। अपने पैसे को गतिशील रखने के अलावा भी हमें कुछ पॉइंट्स का ध्यान रखना चाहिए। जो इस तरह से है: (Financial Management in Hindi)

यह भी देखें: स्टॉक मार्केट से पैसे कैसे कमाए? How To Make Money From Stock Market

6 Best Financial Management Tips in Hindi

  • 1. जब मार्केट में मंदी चल रही हो, तो उस टाइम समझदारी भरी इन्वेस्टमेंट और सौदेबाजी करने का अच्छा मौका होता है। अगर बाजार ऊपर चढ़ रहा होता है, तो हमें ज्यादा गौर से देखना होता है, और ज्यादा सावधान रहना पड़ता है। दोस्तों, अगर आप भी बुद्धिमान इनवेस्टर बनना चाहते है, तो अपने पैसे को कई जगह इन्वेस्ट करना सीखें।
  • 2. इन्वेस्टर्स को आने वाले कल में नहीं बल्कि आज समझदारीपूर्ण होना चाहिए, क्योंकि बहुत सारे लोग खरीदो, रोको, और प्रार्थना करो की स्ट्रैटिजी पर चलते हैं। दोस्तों, आपको प्रॉफिट बेचते टाइम नहीं, बल्कि खरीदते टाइम होता है।
  • 3. बाजार में कदम रखने से पहले हर इनवेस्टर के पास बाहर निकलने की स्ट्रैटेजी भी होनी चाहिए। जैसे आप रियल एस्टेट में इन्वेस्ट कर रहे है, या फिर शेयर मार्केट में, दोनों में ही आपके पास बाहर निकलने की स्ट्रैटिजी होनी चाहिए।
  • 4. शुरुआत आप छोटे छोटे इन्वेस्टमेंट से कर सकते हैं। फिर आप बड़े इन्वेस्टमेंट पर खुद को फोकस करें, ताकि हमें ज्यादा फायदा मिल सके। (Financial Management in Hindi)
  • 5. इन्वेस्टर और ट्रेडर बनने के फर्क को जान लें। जब हम प्रोपर्टी या स्टॉक खरीदकर कैशफ्लो के लिए उसे रोककर रख रहे है, तो हम इन्वेस्टर हैं। जब हम अपनी अंदर जाने और बाहर निकलने की स्ट्रेटेजी बनाकर काम कर रहे है, तो हम ट्रेडर है। दूसरे शब्दों में इन्वेस्टर रोककर रखने के लिए खरीदता है, जबकि ट्रेडर बेचने के लिए खरीदता है।
  • अगर आप अमीर बनकर रिटायर होना चाहते, तो आपको ये जानने की जरूरत है कि इन दोनों में क्या फर्क होता है, और आप दोनों ही कैसे बन सकते हैं। शेयर मार्केट जब क्रैश होता है तो ज्यादातर लोग अपना सारा पैसा इसलिए गवां देते है, क्योंकि वे दरअसल ट्रेडर है। लेकिन खुद को इन्वेस्टर समझ रहे होते है। एक बार फिर, इससे शब्दों की डेफिनेशन जानने का इम्पोर्टेंस पता चलता है।
यह भी देखें: Mutual Fund vs Stock Market: Full Information in Hindi
  • 6. कुछ समझदार लोग लॉन्ग टर्म के लिए इन्वेस्ट करते हैं, लेकिन लॉन्ग टर्म के लिए इन्वेस्ट करने का ये मतलब नहीं होता है कि पैसे जाम करदे, इसका ढेर लगाकर छोड़ दें, ये सोचना कि आपने डायवर्सिफाई कर लिया है। जबकि दरअसल आपका सारा इन्वेस्ट एक ही मीडियम में हो, जैसे म्यूचुअल फंड। और फिर आशा करें कि तूफान ना आए, या आग न लग जाए।
  • हमारे लिए इन्वेस्ट का मतलब हर दिन बाजार में रहना, ज्यादा से ज्यादा जानकारी इकट्ठी करना, और ज्यादा से ज्यादा अनुभव हासिल करना है। और अपने पैसे को नुकसान से बचाना है। हम खरीदो, रोको, और प्रार्थना करो की स्ट्रैटेजी पर नहीं चल सकते। जो लाखों लोगों के लिए लॉन्ग टर्म का मतलब है। (Financial Management in Hindi)

What is Financial Management in Hindi Language?

जब हम ऑनलाइन शॉपिंग करते हैं तो ज्यादातर खरीदार जानते हैं कि अगर उन्हें खरीदा गया सामान पसंद नहीं आया, तो उन्हें उनका पैसा वापस मिल सकता है। ज्यादातर समझदार दुकानदार कस्टमर के सैटिस्फाइड न होने पर, “मनी बैक गारंटी” देते हैं। ज्यादातर “मनी बैक गारंटी” में दिक्कत यह होती है कि अपना पैसा वापस पाने के लिए आपको पहले सामान लौटाना होगा।

लेकिन अगर आप इन्वेस्टर है, तो आप अपना पैसा भी वापस चाहते हैं और उस एसेट को भी रखना चाहते हैं। इसी कारण, इन्वेस्टमेंट एक शानदार फैसला है। इसमें आप खरीदा हुआ सामान भी रखते है, और अपना पैसा भी वापस पा सकते हैं। इसलिए सच्चे इन्वेस्टर को एक बहुत जरूरी चीज कहनी चाहिए, “मैं अपना पैसा वापस चाहता हूं। मैं अपनी इन्वेस्टमेंट भी अपने पास रखना चाहता हूं”।

यह भी देखें: Mutual Fund Investment Tips in Hindi to Become Rich

अगर आप इन्वेस्टमेंट के इस प्रिंसिपल (सिद्धांत) को समझ सकें, तो आप “वेलोसिटी ऑफ मनी” का मतलब समझ जाएंगे। इसका मतलब ये है कि आप अपना पैसा जल्दी से जल्दी वापस पाना चाहते है, ताकि दूसरे एसेट्स को हासिल करने में इसको दोबारा इन्वेस्ट किया जा सके। (Financial Management in Hindi)

Best Financial Management in Hindi PDF Book

ये जानकारी मैंने आपको “Retire Young Retire Rich” किताब से बताई है। आप इस किताब को अमेजॉन से खरीद सकते है। तो दोस्तों, आपको यह जानकारी कैसी लगी, क्या आपको यह जानकारी समझ आई, क्या आप भी इन बातों को फॉलो करेंगे? हमें निचे कमेंट करके जरूर बताए। (Financial Management in Hindi)

यह भी देखें:

Money Saving Tips in Hindi 2022

Shortage of 2000 Rupee Note in India Explained Hindi

How to Save Income Tax in Hindi 2022

- Advertisement -
RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisment -

Most Popular

- Advertisment -