The Kashmir Files Review In hindi

साल 2019 में विवेक अग्निहोत्री (Vivek Agnihotri) की फिल्म ‘द ताशकंद फाइल्स’ रिलीज हुई थी और यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर हिट साबित हुई।

अब विवेक अग्निहोत्री ‘द कश्मीर फाइल्स’ लेकर आए हैं, जिसमें उन्होंने 90 के दशक में कश्मीर में हुए कश्मीरी पंडितों और हिंदुओं के नरसंहार और पलायन की कहानी को दर्शाया है।

इस फिल्म में अनुपम खेर, मिथुन चक्रवर्ती जैसे धुरंधर कलाकार तो हैं ही, लेकिन साथ ही फिल्म में पल्लवी जोशी और दर्शन कुमार जैसे मंझे हुए कलाकार भी नजर आएंगे।

फिल्म की कहानी कश्मीर के एक टीचर पुष्कर नाथ पंडित की जिंदगी के इर्द-गिर्द घूमती है. कृष्णा दिल्ली से कश्मीर आता है, अपने दादा पुष्कर नाथ पंडित की आखिरी इच्छा पूरी करने के लिए।

कृष्णा अपने दादा के जिगरी दोस्त ब्रह्मा दत्त के यहां ठहरता है. उस दौरान पुष्कर के अन्य दोस्त भी कृष्णा से मिलने आते हैं. इसके बाद फिल्म फ्लैशबैक में जाती है.

दिखाया जाता है कि 1990 से पहले कश्मीर कैसा था. 90 के दशक में कश्मीरी पंडितों को मिलने वाली धमकियों और अपना घर छोड़कर जाने वाली उनकी पीड़ादायक कहानी को दर्शाया जाता है.

कृष्णा को नहीं पता होता कि उस दौरान उसका परिवार किस मुश्किल वक्त से गुजरा होता है. इसके बाद 90 के दशक की घटनाएं की परतें उसके सामने खुलती हैं।

और दर्शाया जाता है कि उस दौरान कश्मीरी पंडित किस पीड़ा से गुजरे थे. पूरी कहानी इसी के इर्द-गिर्द घूमती है.

और जानने के लिए निचे क्लिक करें।