लॉजिस्टिक्‍स कंपनी Delhivery ने पूंजी बाजार नियामक SEBI के पास 5,235 करोड़ रुपये का IPO लाने के लिए रेड हेरिंग प्रॉस्‍पेक्‍टस दाखिल किया है।

कंपनी ने पहले 7,460 करोड़ रुपये का आइपीओ लाने की योजना बनाई थी।

आपको बता दें कि Delhivery का IPO आम निवेशकों के सब्‍सक्रिप्‍शन के लिए 11 मई को खुल रहा है।

एंकर निवेशकों के लिए यह IPO 10 मई को खुलेगा। रेड हेरिंग प्रॉस्‍पेक्‍टस के अनुसार, कंपनी ने ऑफर फॉर सेल (OFS) का आकार 2,460 करोड़ रुपये से घटाकर 1,235 करोड़ रुपये कर दिया है।

प्राइवेट इक्विटी निवेशक Carlyle ने ऑफर फॉर सेल (OFS) में अपनी हिस्‍सेदारी 920 करोड़ रुपये से घटाकर 454 करोड़ रुपये कर दी है।

वहीं, सॉफ्टबैंक ने भी OFS में अपनी हिस्‍सेदारी 750 करोड़ रुपये से घटाकर 365 करोड़ रुपये कर दी है।

Delhivery IPO के जरिए जुटाई गई राशि में से 2,000 करोड़ रुपये का उपयोग अपनी ऑर्गेनिक ग्रोथ के लिए करेगी।

इनमें मौजूदा बिजनेस लाइन का विस्‍तार, समान लेकिन नई तरह के कारोबार का विकास, नेटवर्क इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर की मजबूती और प्रोपराइटरी लॉजिस्टिक्‍स ऑपरेटिंग सिस्‍टम की मजबूती के लिए खर्च किया जाएगा।

आईपीओ से जुटाई गई राशि में से 1,000 करोड़ रुपये का इस्‍तेमाल कंपनी अधिग्रहण और अन्‍य नीतिगत इनिशिएटिव जैसे अन्‍य ग्रोथ ऑपोर्च्‍युनिटीज पर खर्च करेगी।

Delhivery देश के 17,000 पिन कोड को कवर करती है। पिछले वर्ष जून के डाटा के अनुसार,  कंपनी के 20 ऑटोमेटेड सॉर्टेशन सेंटर्स, 124 गेटवे और 83 फुलफिलमेंट सेंटर्स देश भर में हैं।

आपको बता दें कि भारतीय बाजार का अबतक का सबसे बड़ा आइपीओ, LIC का IPO 4 मई से आम निवेशकों के लिए खुल चुका है।

अधिक जानकारी के लिए क्लिक करें।

CLICK HERE