गर्मियों में एसी की जरूरत तो सभी को पड़ती है। लेकिन ये इतने महंगे होते हैं कि हर कोई इन्हें अफोर्ड नहीं कर सकते हैं। साथ ही एसी के चलते बिजली का बिल भी बहुत आता है।

ऐसे में सोलर एसी एक बेहतर विकल्प साबित हो सकता है। ऐसा कहा जाता है कि सोलर एसी पर्यावरण को नुकसान नहीं पहुंचाते हैं

और बिजली के बिल में भी 80 फीसद तक कम कर सकते हैं। आज हम आपको यहां ये बता रहे हैं कि सोलर एसी के बेनिफिट्स क्या हैं और इनकी कीमत कितने से शुरू होती है।

नॉर्मल एसी से अगर तुलना की जाए तो सोलर एसी से एक यूजर हर महीने करीब 600 यूनिट बिजली की बचत कर सकता है।

इसका सीधा मतलब है कि यूजर्स के बिजली का बिल 5,000 रुपये स 6,000 रुपये तक कम हो सकता है।

अंतर्राष्ट्रीय ऊर्जा एजेंसी (IEA) के अनुमान के मुताबिक, वर्ष 2050 तक गर्मी काफी बढ़ जाएगी। इसके चलते एयर कंडीशनर की मांग काफी बढ़ सकती है।

ज्यादा से ज्यादा लोग एसी जैसी डिवाइसेज को खरीदने का प्लान करेंगे। लेकिन जितना ज्यादा एसी का इस्तेमाल बढ़ेगा उतनी ही बिजली की खपत भी बढ़ेगी।

ऐसे में पर्यावरण का ध्यान रखते हुए ही सोलर एसी को लॉन्च किया गया है। आमतौर पर सोलर एसी की कीमत करीब 45,000 रुपये से शुरू होती है।

कहा जाता है कि इंडोर यूनिट को छोड़कर, एसी के सभी पुर्जे भारत में ही बनते हैं। इंडोर यूनिट को थाईलैड से इम्पोर्ट किया जाता है।

इसके लिए आपको अपनी छत पर 320 वॉट के पैनल लगाने होंगे। सबसे अहम बात यह है कि सोलर एसी का चलना पूरी तरह से सूरज की रोशनी पर निर्भर करेगा।

अगर आपके घर पर पर्याप्त जगह है तो आपके लिए यह सही विकल्प है।

CLICK FOR MORE